Home » ब्रेकिंग न्यूज़ » अमिताभ बच्चन ने फिर लिखा- ठोकना तो निश्चित है  

अमिताभ बच्चन ने फिर लिखा- ठोकना तो निश्चित है  

नई दिल्ली: अमिताभ बच्चन को जबसे किसी ने कोरोना से मर जाने को कहा है तबसे वह काफी गुस्से में नजर आ रहे हैं और अपना सारा का सारा गुस्सा अपने ब्लॉग में उड़ेल रहे हैं।अमिताभ बच्चन अपने ब्लॉग के जरिये उन्हें ऐसा कहने वाले को लताड़ लगा रहे हैं।जहां, अमिताभ बच्चन ने पहले अपने ब्लॉग यह लिखा था कि वह अपने फैंस को यह सबकुछ बताएंगे और उनसे कहेंगे कि ठोक दो साले को…वहीं अब अमिताभ बच्चन ने फिर एक ब्लॉग लिखा है औऱ उसमे उन्होंने कहा है कि- ठोकना तो निश्चित है।इसके साथ ही अमिताभ बच्चन ने एक कहानी भी सुनाई है।

अमिताभ बच्चन का नया ब्लॉग….

ठोकना तो निश्चित है…. वो साँप वाली कहानी तो याद होगी।

एक सपेरे का पालतू साँप , मालिक की सुरक्षा के लिए वहीं पास में बैठा रहता था।जो भी उधर से गुज़रे साँप उसे काट लेता था।लोगों ने complain किया की ये तो बहुत ख़तरनाक मामला है , सपेरे को यहाँ से हटा देना चाहिए।जब सपेरे ने ये सुना तो उसको लगा की अगर यहाँ से हटा दिया गया तो उसका धंधा बंद हो जाएगा।उसने साँप को बुलाया और कहा चुप चाप बैठे रहना काटना मत किसी को, नहीं तो निकाल दिए जाएँगे  । जिसके बाद साँप चुप चाप बैठा रहा।अब जो भी वहाँ से गुजरे, ये देख करके की साँप तो कुछ कर नहीं रहा , उसे डंडे से मारने लगे। साँप जान बचाने के लिए भागा  वहाँ से, और पहुँच गया मालिक के पास।मालिक अपने साँप की दुर्दशा देख कर बहुत नाराज़ हुआ और बोला क्यूँ मार खाई तूने , उसने साँप को फटकारा  । साँप ने उत्तर दिया , मालिक आप ही ने तो कहा था की चुप चाप बैठे रहो , काटो मत , सो मैं चुप चाप बैठा रहा और क्यूँकि आपने काटने से मना किया था , मार खाता रहा , और अब मेरा ये हॉल लोगों ने कर दिया है।यह सुनकर मालिक ने साँप को दो झापड़ मारे और डाँटते  हुए कहा- अबे साले, काटने से माना किया था, फुफकारने से थोड़ी ना  !!

आखिर में अमिताभ ने लिखा- समझने वाले समझ गए होंगे।।😁😁😁

बतादें कि, अमिताभ के इस ब्लॉग को उनके पहले वाले ब्लॉग से जोड़कर देखा जा रहा है जिसने उन्होंने उन्हें मरने की बात कहने वाले को बहुत उल्टा सीधा सुनाया था और फैंस से कहकर उसे ठोक डालने की बात कही थी।इसीलिए लोग भी उनके इस नए ब्लॉग को उन्हें मरने की बद्दुआ देने वाले से जोड़कर देख रहे हैं।

इधर, अमिताभ के इस कहानीनुमा ब्लॉग को देखकर मानो ऐसा लगता है कि जैसे वह यह साफ कर रहे हों कि उन्होंने जो अपने पिछले ब्लॉग में ‘ठोक डालो साले को’ इस प्रकार का वाक्य लिखा था तो इसका मतलब ये बिल्कुल नहीं था कि उसे मारना है।जहां तक अमिताभ के कहने का मतलब है-उसने जिस प्रकार से उनके ऊपर पर बकवास की है ठीक उसी प्रकार उसे सारे घेरकर उसपर भी खराब टिप्पणियां करें।बस इससे ज्यादा औऱ कुछ नहीं।मसलन, काटना नहीं है, सिर्फ फुफकारना है…..

देखें पिछला ब्लॉग….

‘काश कोरोना तुम्हारी जान लेले अमिताभ बच्चन’, जानिए यह सुनने के बाद महानायक पर क्या हुआ असर और उन्होंने क्या कहा?

Check Also

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पॉजिटिव, अमिताभ पहुंचे घर

बड़ी खबर: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पॉजिटिव, अमिताभ पहुंचे घर

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के चलते देश में जहां कहर ढहा रखा है, वहीं कंद्रीय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel