Home » हरियाणा » प्रशासनिक रूप से कालका हुआ अनाथ, बन गया लावारिस : विजय बंसल

प्रशासनिक रूप से कालका हुआ अनाथ, बन गया लावारिस : विजय बंसल

न कोई एसडीएम, तहसीलदार,नायब तहसीलदार और न ही दफ्तरों में अफसर-कर्मचारी \

पंचकूला। एक तरफ जहां कालका को विधानसभा में नम्बर 1 पर अंकित किया जाता है,प्रदेश की राजधानी चंडीगढ़ व हिमाचल,पंजाब आदि प्रदेशो से सटा क्षेत्र है,अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए विश्व पर्यटन में अंकित है तो वही प्रशासनिक, शासनिक रूप से कालका सबसे पिछड़ा व लावारिस क्षेत्र है उक्त आरोप शिवालिक विकास मंच के अध्यक्ष व हरियाणा सरकार में चेयरमेन रहे विजय बंसल ने सब डिवीजन कालका से सरकार की अनदेखी व कमजोर नेतृत्व को देखते हुए लगाए है।

काफी समय से सबडिवीजन कालका में जनता को प्रशासनिक कार्य करवाने के लिए दर दर की ठोकरे खाकर दफ्तरों से बेरंग वापिस लौटना पड़ रहा है क्योंकि सबडिवीजन कालका में न तो कोई एसडीएम,न ही कोई परमानेंट तहसीलदार,न ही कोई नायब तहसीलदार व न ही अन्य दफ्तरों में उपयुक्त कर्मचारी व अफसर जनहित की सेवा में तैनात है जिससे जजपा-भाजपा सरकार का कालका की जनता के प्रति भेदभावपूर्ण रवैया उजागर हो चुका है।इसके साथ ही सरकार की नीयत व नीति भी स्पष्ट हो चुकी है जिसमे केवल सत्तासीन पार्टी जनता से झूठे जुमले-वायदे करे परन्तु जनहित में काम करने के लिए कोई योजना व कार्य नही।बंसल ने बताया कि सरकार की इस अनदेखी के कारण विकास कार्य तो प्रभावित हो ही रहे है बल्कि रोजमर्रा के कार्य भी प्रभावित हो रहे है जिससे जनता परेशान हो चुकी है।

विजय बंसल ने बताया कि जनता ने उन्हें समस्या से अवगत करवाया तो उन्होंने स्वयं जायजा लिया कि कालका में न तो लोगो की जमीनों की रजिस्ट्रियां हो रही,न ही लोगो की गाडयि़ों की आरसी बन रही व न ही लोगो के ड्राइविंग लाइसेंस बन रहे है जोकि काफी दुखद है जिसके लिए कमजोर नेतृत्व व सरकार की अनदेखी जिम्मेवार है।

शरारती कर रहे उपद्रव

विजय बंसल ने कहा कि कालका बॉर्डर एरिया से सटा क्षेत्र है, देश के हालात नाजुक है आए दिन कही न कही शरारती तत्व उपद्रव कर रहे है व यह बहुत ही चिंता का विषय है कि यदि कालका पर कोई विपदा या आपदा आजाए,ला व ऑर्डर की स्थिति बिगड़ जाए तो कोई अधिकारी जायजा लेने तक के लिए नहीं है जिससे कालका प्रशासनिक रूप से तो अनाथ है ही बल्कि कालका का कोई रखवाला भी नहीं है।

Check Also

हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने राज्यपाल से विशेष सभा सत्र बुलाने का किया आग्रह, बोले- हम अविश्वास प्रस्ताव पेश करेंगे

नई दिल्ली: नए कृषि कानूनों पर चल रहे किसानों के प्रदर्शन को विपक्ष का पूरा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel