Home » Photo Feature » नीचता की हद! घर से 90 साल की महिला को जबरन उठा ले गया युवक, किया कई बार रेप, मारा-पीटा भी खूब

नीचता की हद! घर से 90 साल की महिला को जबरन उठा ले गया युवक, किया कई बार रेप, मारा-पीटा भी खूब

नई दिल्ली: लोगों में हवस की आग किसकदर जल रही है इसका अंदाजा देश की राजधानी दिल्ली में हुई इस घटना से साफ लगाया जा सकता है।दिल्ली के नजफगढ़ के छावला इलाके में एक 33 साल के युवक ने 90 साल की बुजुर्ग महिला के साथ रेप जैसी घिनौनी घटना को अंजाम दिया है।युवक ने बुजुर्ग महिला के साथ दरिंदगी की सारी हदें पार कर डाली।फिलहाल, आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया गया है और उसपर कई धाराएं दर्ज कर मामले में कार्रवाई की जा रही है।

बुजुर्ग माता जी युवक से मांगती रहीं रहम की भीख…

बुजुर्ग माता जी बताती हैं कि, उन्होंने आरोपी युवक से खूब रहम की भीख मांगी।वह उससे लगातार यह कहती रहीं कि वह उन्हें छोड़ दे।भगवान से डरे।वह उसकी दादी की उम्र की हैं।मगर आरोपी युवक हवस में ऐसा अंधा और बहरा हो रखा था कि उसने उनकी एक न सुनी।उसने बड़ी क्रूरता के साथ उनके साथ कई बार रेप किया और मारपीट भी की।

बतादेंकि, बुजुर्ग माता जी को काफी चोटें आई हैं।वह
अपने साथ हुई इस घटना के बारे में बताते हुए बहुत रोती हैं।उनकी पीड़ा को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है।दरअसल, बुजुर्ग माता जी जीवन के अंतिम पड़ाव पर हैं और ऐसे में उनके साथ ऐसी घटना का हो जाना बेहद दर्दनाक है।

दिल्ली महिला आयोग ने लिया मामले में एक्शन…

वहीं बुजुर्ग महिला से दिल्ली महिला आयोग (Delhi Women Commission) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने मुलाकात की है।उन्होंने इस पूरी घटना पर अपना दुख जताया है।

स्वाति मालीवाल का हवस के पुजारियों पर फूटा गुस्सा…

स्वाति मालीवाल हमेशा से ही महिलाओं के उत्पीड़न के खिलाफ मोर्चा संभालते हुए दिखती हैं।इसके अलावा वह आयेदिन सेक्स रैकेटों को भी उजागर करती हुई नजर आती हैं।वहीं, अब दिल्ली में एक 90 साल की माता जी के साथ हुए रेप ने उन्हें झकझोर कर रखा दिया है।स्वाति मालीवाल का गुस्सा सातवें आसमान पर है।स्वाति मालीवाल का कहना है कि, उन्होंने “दो बार अनशन किया, आंदोलन किए, लाठियां खाई, अपने लिए कुछ नही मांग रही थी। बस यही मांगा की इस देश में ऐसे कानून बनाओ कि बालात्कार जैसे गुनाह के बारे में सोचने वाले दरिंदो की रूह कांपे। जो लोग आज अनदेखा कर रहे हैं, कल वो किसी की भी 6 महीने की बच्ची या 90 साल की दादी हो सकती है।

स्वाति कहती हैं- ये घटना ये सवाल उठाती है कि दिल्ली और देश में न तो 6 महीने की बच्ची सुरक्षित है और न 90 साल की महिला।​ मेरा सवाल उन घटिया मानसिकता के लोगों से भी है जो कहते हैं लड़की ने कपड़े गलत पहने होंगे। क्या 6 महीने की उस बच्ची ने भी गलत कपड़े पहने थे या 90 वर्षीय दादी जी ने कोई गुनाह किया था? रेप करने वालों की मानसिकता गंदी होती है, औरतों के कपड़े नही! हैवानियत की हद्द है! 6 महीने की बच्ची हो या 90 वर्ष की महिला, कोई सुरक्षित नही!अम्मा उस 33 साल के दरिंदे से भीख माँगती रही की उनको छोड़ दे! वो उसके दादी की उमर की हैं। पर हवस के नशे में डूबे हुए उस जानवर ने रेप कर सब हद पार कर दीं! कैसा समाज है हमारा? इंसानियत मर गयी है जिसके लिए 6 महीने की बेटी और 90 साल की महिला – दोनों ही सिर्फ़ एक वस्तु है। शर्मनाक!

अम्मा ने मुझसे कहा- दरिंदे को फांसी दिलाओ…

स्वाति मालीवाल बताती हैं कि जब वह अम्मा से मिलीं तो वह बहुत रो रही थीं।उनसे मिली तो रूह कांप गयी।अम्मा को बहुत चोटें आयी हैं।अम्मा ने मुझसे कहा कि इस दरिंदे को फाँसी दिलाओ!इसलिए उन्होंने उपराज्यपाल अनिल बैजल को चिट्ठी लिख पिछले महीने हुए 12 वर्ष की बच्ची और दो दिन पहले छावला में हुए 90 वर्ष की महिला के साथ बलात्कार के मामले में जल्द से जल्द चार्जशीट करवाने और मामले को फ़ास्ट ट्रैक करवाकर दोषियों को फांसी की सज़ा दिलाने की अपील की है।

इधर, दिल्ली महिला आयोग की एक सदस्य वंदना सिंह ने कहा- इस उम्र में उन दादी मां को को जो दिन देखना पड़ा उसके लिए समाज व सिस्टम बराबर के जिम्मेदार हैं।उनकी आंखो में आंसू देखकर,अपने वहां जीवित खड़े होने पे भी शर्म आरही थी।लेकिन उनकी हिम्मत देखकर मेरे रोंगटे खड़े हो रहे थे।उस दरिंदे को रिकॉर्ड समय में फांसी दिलवाने की हरसंभव कोशिश करेंगे।

Check Also

संसद में बेटियों को लेकर बेबाक हुए रवि किशन, बोले- किसी भी इंडस्ट्री में कोई ऐसी जुर्रत न करे VIDEO

नई दिल्ली: संसद की कार्यवाही में अभीतक बॉलीवुड में ड्रग परोसे जाने का मुद्दा खूब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel