Home » ब्रेकिंग न्यूज़ » चीन में कोरोना वायरस से 24 हजार मौतें?टेनसेंट के लीक डेटा से उड़े होश…
चीन में कोरोना वायरस से 24 हजार मौतें?टेनसेंट के लीक डेटा से उड़े होश...
चीन में कोरोना वायरस से 24 हजार मौतें?टेनसेंट के लीक डेटा से उड़े होश...

चीन में कोरोना वायरस से 24 हजार मौतें?टेनसेंट के लीक डेटा से उड़े होश…

नई दिल्ली: क्या चीन में कोरोना वायरस के प्रकोप से 24 हजार लोगों की जान जा चुकी है?चीन की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी टेनसेंट के लीक डेटा से तो कुछ ऐसा ही पता चला है|दरअसल, टेनसेंट का कोरोना वायरस से मरने वालों को लेकर बनाया गया डाटा किसी स्थिति में ऑनलाइन लीक हो गया|वहीं, डेटा लीक होने से चीन सहित पूरी दुनिया में खलबली मची गई|खलबली इसलिए मच गई क्योंकि टेनसेंट ने कोरोना वायरस से मरने वालों की जो संख्या में अपने डेटा में दिखाई वो बेहद खौफनाक स्थिति को बयां कर रही थी|

टेनसेंट ने जो डेटा बनाया उसमे उसने चीन में कोरोना वायरस से 24 हजार लोगों की मौतों की आकड़ा दिखाया|टेनसेंट ने बताया कि, करॉना वायरस से देश में अब तक 24 हजार से ज्‍यादा लोग मारे गए हैं।उधर, जैसे ही चीन सरकार टेनसेंट का डेटा देखा तो उसने फ़ौरन अपनी रिपोर्ट जारी की|जिसमे बताया गया कि इस वायरस से अब तक केवल 563 लोगों की मौत हुई हैं और 28 हजार लोग प्रभावित हैं|24 हजार लोगों की मौतों का आकड़ा बेबुनियाद है|

लेकिन, टेनसेंट के लीक डेटा की हवा पूरी दुनिया और चीन के लोगों में फ़ैल गई चीन के लोग टेनसेंट की रिपोर्ट को सच मान रहे हैं और कह रहे हैं कि चीन सरकार कोरोना वायरस से मरने वालों का गलत डेटा पेश कर रही है|लोगों का मानना है कि चीन सरकार वास्‍तविक हालात को छिपा रही है|

चीन सरकार की रिपोर्ट के बाद टेनसेंट ने बदला अपना डेटा…..

ताइवान के समाचार पत्र ताइवान न्‍यूज की रिपोर्ट के मुताबिक कई देशों में कारोबार करने वाली चीनी कंपनी टेनसेंट ने शनिवार को बताया कि करॉना वायरस से 154,023 लोग प्रभ‍ावित हैं और 24,589 लोगों की मौत हो गई है।टेनसेंट का यह आंकड़ा चीन के आधिकारिक आंकड़े से करीब 80 गुना ज्‍यादा था।हालांकि बाद में टेनसेंट ने उस वक्त अपना डेटा बदल लिया जब चीन सरकार की रिपोर्ट सामने आई|टेनसेंट ने अपने नए डेटा में चीन सरकार की रिपोर्ट को दर्शाया|

चीन के लोगों का कहना है कि मौत के आंकड़ों को ऐसे छिपा रही सरकार……

चीन के लोग कह रहे हैं कि वायरस से पीड़‍ित लोगों का इलाज नहीं हो पा रहा है और वे अस्‍पतालों के बाहर ही मर रहे हैं।इसके अलावा टेस्‍ट किट की भी भारी कमी है जिससे वायरस की जांच नहीं हो पा रही है और लोगों की मौत हो रही है।लोगों का कहना है कि किसी के मरने पर सरकार कि ओर से डॉक्‍टरों को न‍िर्देश है कि वे वायरस से मरने वाले लोगों को किसी और बीमारी से मरा हुआ दिखाएँ|ताकि वायरस से मरने वालों का आंकड़ा कम बना रहे।

बिखरे पड़े शव……..

वुहान के शवदाहगृहों से मिल रही रिपोर्टो के मुताबिक उन्‍हें शव भेजे जा रहे हैं लेकिन उन्‍हें आधिकारिक आंकड़ों में शामिल नहीं किया जा रहा है।अस्‍पताल के कॉरिडोर में लोगों के शव बिखरे पड़े हुए हैं।उन्‍हें कोई पूछने वाला नहीं है।

Check Also

Chandigarh Crime: फर्जी प्रेस रिपोर्टर बन कर रहे थे नशे का कारोबार, 100 ग्राम स्मैक के साथ पुलिस ने पकड़ा

(Report- Ranjeet Shammi) (Edited by Shiva Tiwari) पुलिस ने शक होने पर प्रेस कार्ड किये …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel