Home » ब्रेकिंग न्यूज़ » हरियाणा में लगेंगे 200 सीबीजी प्लांट, खत्म होगा पराली प्रदूषण

हरियाणा में लगेंगे 200 सीबीजी प्लांट, खत्म होगा पराली प्रदूषण

हरियाणा में लगेंगे 200 सीबीजी प्लांट, खत्म होगा पराली प्रदूषण

हरेडा व आईओसीएल में एमओयू

पहले चरण में 66 कंपनियों को मिली मंजूरी

चंडीगढ़। हरियाणा वासियों को पराली से हर साल फैलने वाले प्रदूषण से अब निजात मिलेगी। सरकार ने हरियाणा रिन्यूवल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी (हरेडा) के माध्यम से इंडियन ऑयल कारपोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल) के साथ मिलकर पराली की मदद से कंप्रेस्ड बायो गैस (सीबीजी) बनाने को मंजूरी प्रदान की है। हरियाणा में 200 सीबीजी प्लांट लगाए जाएंगे। पहले चरण में 66 कंपनियों को प्लांट लगाने की मंजूरी प्रदान कर दी गई है।

प्रदेश में हर साल धान के सीजन में करीब 60 लाख मीट्रिक टन पराली निकलती है। इसमें से 30 लाख फसली अवशेषों का निस्तारण खेतों में ही हो जाता है। बाकी 30 लाख मीट्रिक टन फसली अवशेष किसानों द्वारा जलाए जाते हैं। योजना के मुताबिक पहले चरण में 26 लाख टन पराली प्रबंधन वाले 66 प्लांट लगाए जाएंगे। जहां कम्प्रेस्ड बायो-गैस के अलावा फर्टिलाइजर भी बनेगा। आयल कंपनियों ने अपने पेट्रोल-सीएनजी पंपों पर कम्प्रेस्ड बायो-गैस बेचने का भी फैसला लिया है। यही नहीं, सीबीजी प्लांट लगाने वाली कंपनियों को यह गारंटी दी गई है कि उनकी कम्प्रेस्ड बायो-गैस को 46 रुपये प्रति किलो के हिसाब से खरीदा जाएगा।

सीबीजी के प्लांट अलग-अलग कंपनियां आईओसीएल के अलावा हिंदुस्तान पेट्रोलियम, भारत गैस आदि ऑयल कंपनियों के साथ टाई-अप करके स्थापित करेंगी। आईओसीएल ने जिन 66 कंपनियों को एलओआई जारी किया है, उनमें भिवानी, नारायणगढ़, अंबाला, कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद, फतेहाबाद, इंद्री, करनाल, कलायत, सोनीपत, पलवल, यमुनानगर, बरवाला, खरखौदा, हथवाला, खरड़, कलानौर, चरखी दादरी, पटौदी, नूंह, गुरुग्राम, हिसार, पानीपत, गोहाना, असंध, झज्जर, रेवाड़ी, रोहतक, आसन, दिनोद, दनौदा, दत्ता (हिसार), दामला, पेहवा आदि शहरों की कंपनियां शामिल हैं।

पराली निस्तारण के लिए विशेष पॉलिसी बनाई गई है। हरेडा ने आईओसीएल के साथ प्रदेशभर में 200 सीबीजी प्लांट लगाने के लिए एमओयू साइन किया है। आईओसीएल ने 66 प्लांट को एलओआई जारी कर दी है। ये प्लांट लगने के बाद लगभग 24 लाख टन पराली का प्रबंधन किया जा सकेगा। कम्प्रेस्ड बायो-गैस का इस्तेमाल सीएनजी की जगह गाडिय़ों में हो सकेगा।
-धीरा खंडेलवाल, पर्यावरण विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव।

Check Also

पानीपत में नर कंकाल मिलने से मचा हडकम्प

पानीपत, मदन बरेजा l पानीपत में शुक्रवार को दृश्यम फिल्म जैसी मिस्ट्री सामने आई है। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel