ब्रेकिंग न्यूज़
Home » Haryana » रामबिलास ने सुषमा से मिलकर अंतर्राष्ट्रीय सरस्वती महोत्सव में आने के लिए दिया न्यौता-
रामबिलास ने सुषमा से मिलकर अंतर्राष्ट्रीय सरस्वती महोत्सव में आने के लिए दिया न्यौता-
Haryana Tourism Minister, Mr. Ram Bilas Sharma giving invitation letter of International Saraswati Festival to Union Minister of External Affairs, Mrs. Sushma Swaraj in New Delhi on January 11, 2018. Deputy Chairman, Haryana Saraswati Heritage Development Board, Mr. Prashant Bhardwaj is also seen in the picture.

रामबिलास ने सुषमा से मिलकर अंतर्राष्ट्रीय सरस्वती महोत्सव में आने के लिए दिया न्यौता-

चंडीगढ़। हरियाणा में 18 जनवरी से 22 जनवरी,2018 तक होने वाले अंतर्राष्ट्रीय सरस्वती महोत्सव के लिए हरियाणा के शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने भारत की विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज को नई दिल्ली में उनसे मुलाकात कर निमंत्रण दिया। इस मुलाकात के दौरान शिक्षा मंत्री राम बिलास के साथ इंग्लैंड में हाउस ऑफ कॉमन्स के सदस्य वीरेन्द्र शर्मा भी थे। भारतीय मूल के वीरेन्द्र शर्मा इंग्लैंड में तीसरी बार हाउस ऑफ कामन्स के सदस्य बने हैं। विदेशों में भारतीय मूल के जनप्रतिनिधियों के लिए आयोजित हुए सम्मेलन में शामिल होने के लिए श्री शर्मा इस समय भारत की यात्रा पर हैं। वीरेन्द्र शर्मा ने कहा कि उन्हें भारत की विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज से मुलाकात कर प्रसन्नता हुई और अपनेपन का अहसास हुआ है।
हरियाणा सरस्वती हेरिटेज डेवलेपमेंट बोर्ड के उप-चेयरमैन श्री प्रशांत भारद्वाज भी मुलाकात के समय मौजूद थे। श्री भारद्वाज ने बताया कि हरियाणा सरस्वती हेरिटेज डेवलेपमेंट बोर्ड द्वारा 18 जनवरी से 22 जनवरी तक अंतर्राष्ट्रीय सरस्वती महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है जिसका शुभारंभ 18 जनवरी को सरस्वती नदी के उदगम स्थल आदिबद्री से किया जाएगा। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में 19 जनवरी से 22 जनवरी तक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि यह तीसरा सरस्वती महोत्सव है। पहला सरस्वती महोत्सव राज्य स्तर पर व दूसरा सरस्वती महोत्सव राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित किया गया।

                                                                शैक्षणिक खंडों में गणित की प्रयोगशाला करेंगे स्थापित : शर्मा

चंडीगढ़  । हरियाणा के शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने कहा कि विद्यार्थियों को सरल तरीके से गणित समझाने के लिए राज्य के सभी शैक्षणिक ख्ंडों में एक-एक गणित की प्रयोगशाला स्थापित की जाएगी जिनमें गणित के विभिन्न फार्मूलों से संबंधित मॉडल रखे जाएंगे। श्री शर्मा ने बताया कि गणित हमारे जीवन के हर पक्ष में व्याप्त है। चाहे किसान हो या कोई तकनीकी व्यक्ति, गणित के साथ एक सहज नाता और कम से कम उस स्तर की योग्यता जिस स्तर पर व्यक्ति उसका उपयोग करता है, एक समतावादी समाज के लिए आवश्यक है। उन्होंने कहा कि भले ही हम स्कूल में सीखे गए गणित की विषय वस्तु भूल जाएं परंतु गणितीय तर्क-प्रक्रिया ताउम्र याद रहती है। उन्होंने कहा कि हरियाणा में किसी भी विद्यार्थी को ‘मैथफोबिया (गणित का भय) नहीं होने दिया जाएगा। शिक्षा मंत्री ने जानकारी दी कि हरियाणा स्कूल शिक्षा परियोजना परिषद द्वारा प्रदेश के 119 खंडों में गणितीय-प्रयोगशाला स्थापित की जाएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Share