ब्रेकिंग न्यूज़
Home » Haryana » मक्खियों की समस्या का करें समाधान नहीं तो होगी सख्त कार्रवाई-
मक्खियों की समस्या का करें समाधान नहीं तो होगी सख्त कार्रवाई-

मक्खियों की समस्या का करें समाधान नहीं तो होगी सख्त कार्रवाई-

स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन ने दी चेतावनी-

पंचकूला। हरियाणा की शहरी एवं स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन ने बरवाला, रायपुररानी क्षेत्र में पोल्ट्री फार्मों से होने वाली मक्खियों की समस्या को गंभीरता से लेते हुए पोल्ट्री फार्मों के मालिकों को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि वे जनता के हित में प्राथमिकता के आधार पर मक्खियों की समस्या का समाधान करें अन्यथा सरकार उनके विरूद्ध सख्त कार्रवाही करने में किसी प्रकार का गुरेज नहीे करेगी।
श्रीमती जैन आज जिला सचिवालय के सभागार में जिला प्रशासन, पोल्ट्री फार्म के मालिकों एवं जिला पोल्ट्री फार्म एसोसिएशन के प्रतिनिधियों के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दे रही थी। उन्होंने कहा कि हम किसी का व्यवसाय बंद करने के हक में नहीं है और यदि उनके द्वारा संचालित पोल्ट्री फार्मों से लोगों के जीवन पर कुप्रभाव पड़ रहा है तो सरकार उनके पोल्ट्री फार्म को बंद करने में नियमानुसार कार्रवाही भी सुनिश्चित करेगी।
उन्होंने कहा कि मक्खियों से संबंधित मामला एक साल से जिला लोक संपर्क एवं कष्ट निवारण समिति में भी आया हुआ है लेकिन इस दिशा में अभी तक मक्खियों की समस्या का समाधान नहीं हुआ है। आज की इस बैठक को आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य यह है कि सभी बैठकर मानवता के नाते मक्ख्यिों की समस्या का समाधान निकालें। उन्होंने पोल्ट्री फार्मों के प्रतिनिधियों को स्पष्ट शब्दों में कहा कि साफ-सफाई उन्होंने करवानी है, न कि प्रशासन के अधिकारी यह कार्य करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि प्रशासन द्वारा जारी की गई हिदायतों का भी दृढता से पालन करें और यदि इस दिशा में कोई कोताही बरतता है तो उसके विरूद्ध कार्रवाई अवश्य करें। उन्होंने कहा कि यदि मुर्गियों की फीड में दवाई बदलने की बात है तो इस दिशा में भी अपने सुझाव दें और सही दवा का प्रयोग करें क्योंकि इस दिशा में सही समाधान अवश्य निकालना है। उन्होंने पोल्ट्री फार्म की जिला एसोसिएशन के प्रतिनिधियों को विशेष सफाई अभियान चलाने का निर्देश दिया। जिस पोल्ट्री फार्म पर हिदायतों का पालन नहीं हो रहा, इसके लिए एसोसिएशन का प्रधान उनकी सूची एसडीएम व दोनों विधायकों को दे ताकि उनके विरूद्ध कार्रवाई की जा सके।
उन्होंने प्रशासन के अधिकारियों को भी निर्देश दिये कि संबंधित अधिकारी अचानक पोल्ट्री फार्मों का निरीक्षण करें और जिस पोल्ट्री फार्म पर कमियां पाई जाती हैं, उस पर कार्यवाही भी करें। उन्होंने तीन पोल्ट्री फार्म जिन्हें बंद किया जाना था, उनके बारे में भी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों से बातचीत की। उन्होंने निर्देश दिये कि वे अपने विभाग से स्वीकृति लेकर इस दिशा में कार्रवाई करें।
इस मौके पर पंचकूला के विधायक एवं मुख्य संचेतक ज्ञानचंद गुप्ता व कालका की विधायक लतिका शर्मा ने कहा कि गत तीन सालों से मक्ख्यिों की समस्या से लोगों को निजात नहीं मिली और कई बार प्रशासन और पोल्ट्री फार्म एसोसिएशन के प्रतिनिधियों के साथ बैठक भी की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि मक्ख्यिों से निजात दिलवाने की दिशा में यहां से हैदराबाद टीम भी गई थी। रिपोर्ट के अनुसार पोल्ट्री फार्मों पर नोजल बदले जाने थे पर बहुत से पोल्ट्री फार्मों पर यह कार्य नहीं हुआ। वर्ष में दो बार तापमान के अनुसार खाद निकालने का समय निर्धारित किया गया था, जिसकी उचित अनुपालना नहीं हो रही। विधायक ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि पहली बार सर्दियों में इतनी मक्ख्यिां हुई हैं, जिससे लोगों के जीवन पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है। कालका की विधायक लतिका शर्मा ने कहा कि गत दिनों रायपुररानी खण्ड के गांव खेड़ी के पास उन्होंने स्वयं मक्ख्यिों की समस्या को लेकर पोल्ट्री फार्म मालिकों से बैठक की थी, जिसमें भाजपा के मुख्य प्रतिनिधियों ने भी भाग लिया था। उन्होंने कहा कि मक्ख्यिों से निजात दिलवाने के लिए हम सबको सामूहिक प्रयास करने होंगे तभी हम इस समस्या से निपट सकेंगे।
भाजपा के पूर्व जिला प्रधान एवं लोक निर्माण विभाग के तकनीकी सलाहकार विशाल सेठ ने बताया कि मक्ख्यिों की समस्या के निदान के लिए विशेषज्ञों से पोल्ट्री फार्मों के मालिकों की निरंतर बैठक आयोजित करवाई जा रही है और प्राथमिकता के आधार पर इसकी रिपोर्ट भी प्रस्तुत की जायेगी। उन्होंने कहा कि बायोगैस या बिजली बनाने व खाद से संबंधित प्लांट पर भी विस्तार से विशेषज्ञों से बात की जा रही है ताकि लोगों को हर हालत में मक्ख्खियों से निजात मिल सके।
जिला पोल्ट्री फार्म एसोसिएशन के प्रधान दर्शन सिंगला ने मंत्री को भरोसा दिलाया कि उन्हें 15 जनवरी तक समय दिया जाये और वे विशेष अभियान चला कर ऐसे पोल्ट्री फार्मों की सूची देंगे जहां साफ-सफाई व अन्य कमियां पाई जायेंगी।
इस मौके पर उपायुक्त गौरी पराशर जोशी ने मंत्री को बताया कि पोल्ट्री फार्मों के साथ कई बार बैठक हो चुकी है लेकिन अभी तक इसका कोई समाधान नहीं निकला और समय-समय पर प्रशासन द्वारा गठित टीम भी चैकिंग कर रही है। उन्होंने बताया कि मक्ख्यिों से निजात पाने की दिशा में बायोगैस प्लांट लगाने पर भी विचार किया जा रहा है। उन्होंने पोल्ट्री फार्म मालिकों व ऐसोसिएशन के प्रतिनिधियों से आग्रह करते हुए कहा कि वे मक्ख्यिों से लोगों को निजात दिलवाने के लिए प्रयास करें ताकि इस समस्या का समाधान हो सके।
इस अवसरर पर अतिरिक्त उपायुक्त मुकुल कुमार, डीसीपी मनवीर सिंह, एसडीएम पंकज सेतिया, नगराधीश ममता शर्मा, भाजपा के जिला प्रधान दीपक शर्मा, जिला महामंत्री हरेन्द्र मलिक, डीपी सोनी, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, पशुपालन विभाग व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी उपस्थित रहे।

फोटो कैप्शन 1 से 4 हरियाणा की शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन जिला प्रशासन, पोल्ट्री फार्म के मालिकों एवं जिला पोल्ट्री फार्म एसोसिएशन के प्रतिनिधियों के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Share