ब्रेकिंग न्यूज़
Home » Punjab » एन.जी.डी.आर.एस अधीन ऑनलाईन राजिस्ट्रियों करने वाला देश का पहला जिला बना मोहाली-

एन.जी.डी.आर.एस अधीन ऑनलाईन राजिस्ट्रियों करने वाला देश का पहला जिला बना मोहाली-

मोहाली – एस.ए.एस.नगर के जिला प्रशासनिक काम्पलैक्स मे अतिरिक्त मुख्य सचिव राजस्व कम विती कमशिनर, राजस्व एवं डिवीजनल कमिशनर रूपनगर वी.के. मीना ने नैशनल जैनरकि सॉफ्टवेयर फार डाकूमेंट राजिस्ट्रेशन (एन.जी.डी. आर.एस) अधिन आनलाईन राजिस्ट्रियां को करने के लिए तैयार किये पोर्टल का उद्घाटन किया। जिला एस.ए.एस. नगर लोगों को यह सुविधा मुहैया करवाने वाला देश का पहला जिला बन गया है। इस से पहले पिछले साल १७ नवंबर को मोगा और आदमपुर तहसीलों में इस पोर्टल की शुरूआत की गई थी परन्तु जिला स्तर पर इस को एस.ए.एस. नगर में ही लागू किया गया है। इस नयी प्रणाली अधिन पहली राजिस्ट्री परमंिदर कौर और लाभ कौर की तरफ से रस्मिया हंस बेटी रमेश कुमार हंस (वासियान बलौंगी) को बेचे गए बलौंगी स्थति प्लाट कि की गई।
इस सम्बन्धित बातचीत करते हुए श्री वी.के. मीना ने बताया कि राजिस्ट्री सम्बन्धित कागज़ात तैयार होने के बाद लोग इस पोर्टल की मदद के साथ घर बैठे ही राजिस्ट्री करवाने के लिए समय ले सकेंगे और उन को सब रजिस्ट्रार कार्यालय में बैठ कर लम्बे समय तक इन्तज़ार नहीं करना पड़ेगी। इस सॉफ्टवेयर में टाईमसलोटस का प्रबंध किया गया है जिस अधिन लोगों को राजिस्ट्रियों के लिए समय दिया जायेगा। श्री मीना ने बताया कि इस सॉफ्टवेयर द्वारा प्रात:काल ९ बजे से ले कर शरणार्थी ५ बजे के दरमआिन ही रजिस्ट्रयों के लिए समय दिया जायेगा और शुरूआती तौर पर एक राजिस्ट्री को १० से १५ मिन्ट का समय लगेगा, जोकि आने वाले दिनों में ओर भी कम हो जायेगा। उन्होने बताया कि इस प्रक्रिया के लिए आधार कार्ड का होना आवश्यक किया गया है और इस सॉफ्टवेयर परिणाम स्वरूप राजिस्ट्रीयों सम्बधी गडबड की गुंजायश नहीं रही है। एन.आई.सी, पुणे की तरफ से तैयार किये गए इस सॉफ्टवेयर से की जाने वाली राजिस्ट्रीयों जानकारी आनलाईन भी संभाल कर रखी जायेगी, जिस के लिए विषेश क्लाउड तैयार किया गया है। श्री मीना ने बताया कि इस राजिस्ट्रेशन प्रणाली अधिन लोग सप्ताह में सातों दिन और २४ घंटे किसी भी समय पर राजिस्ट्री संबंधी जानकारी अप्पलोड कर सकते हैं। सब राजिस्ट्रार कार्यालय द्वारा अपोआइंटमैंटों की संख्या घटाई बधाई जा सकती है। इस प्रणाली अधिन सही समय अनुसार ही रर्पोटें तैयार होंगी जिनका मुल्यांकन अधिकारियों की तरफ से तत्काल तौर पर किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त खरीददार और बेचने एवं खरीदने वाले को राजिस्ट्री सम्बन्धित जानकारी एसएमएस के द्वारा भी प्रदान करवाई जायेगी। रजिस्ट्री को स्कैन करके पोर्टल पर डाला जायेगा जिस से राजस्व विभाग के रिकार्ड में भी जानकारी शामलि होती रहेगी। इस पोर्टल अधिन सब-राजिस्ट्रारों को भी बायोमैट्रकि प्रणाली के साथ जोड़ गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Share