ब्रेकिंग न्यूज़
Home » Tri-city » महापौर चुनाव – आशा के घर पर राजनीतिक ड्रामा, औपचारिकता रह गई नामांकन वापस लेना –
महापौर चुनाव – आशा के घर पर राजनीतिक ड्रामा, औपचारिकता  रह गई नामांकन वापस लेना –

महापौर चुनाव – आशा के घर पर राजनीतिक ड्रामा, औपचारिकता रह गई नामांकन वापस लेना –

चंडीगढ़ – नगर निगम के 9 जनवरी को होने वाले चुनावो को लेकर भाजपा गुटबंदी जहाँ चरम सीमा पर है वही देर रत अधिकृत भाजपा प्रत्याशी देवेश मोदगिल ,सगठन मंत्री दिनेश सिंह के साथ महापौर आशा जसवाल के आवास पर पहुंचकर उन्होने पिछले दिनों सेक्टर 47 में एक समारोह में महापौर की अनदेखी को लेकर की गई बयानबाजी के लिए महापौर से लिखित में माफ़ी मांगी जिसके बाद बागियों के तेवर नरम पड़ गए और महापौर पद के लिए खड़ी आशा जसवाल व् वरिष्ठ उपमहापौर पद के लिए रविकांत शर्मा को अपना नामांकन लेना औपचारिकता मात्र रह गई
सूत्रों के अनुसार बतया जाता है कि बागियों को यह फैसला हाईकमान की चेतावनी के बाद वापस लेना पड़ा
ज्ञात रहे इससे पूर्व आज आशा जसवाल व् वरिष्ठ उपमहापौर के पद पर रविकांत शर्मा को समझ नहीं आ रहा था कि अब वह अपनी नाक कैसे बचाये
सूत्रों के अनुसार हाईकमान का सीधा सन्देश था कि पार्टी में अनुशानहीनता कतई बर्दाश्त नहीं की जायगी जबकि गत दिवस पार्टी अध्यक्ष संजय टंडन व् महापौर आशा जसवाल दिल्ली आलाकमान के निर्देश पर संगठन महामंत्री रामलाल से मुलाकात भी कर आई लेकिन बतया जा रहा है कि इन्हे यही कहा गया कि इन्हे पहले जाकर नामांकन वापस ले लो बाकि मामलों को चुनावो के बाद निपटा लिया जायेगा इसी को लेकर आज महापौर आशा जसवाल ने अपने आवास पर 1 बजे बागी पार्षदों की एक बैठक बुलाई थी
ज्ञात रहे इससे पूर्व अर्थ प्रकाश ने अपने 3 जनवरी के अंक में स्पष्ट किया था कि बागियों को सुप्रीम कोर्ट के झटके व हाईकमान की चेतावनी के बाद स्पष्ट कर दिया था कि अब महापौर प्रतयषी देवेश ,वरिष्ठ उपमहापौर गुरप्रीत ढिल्लो व उपमहापौर विनोद अग्रवाल ही रहेंगे और जीत दर्ज करेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Share