ब्रेकिंग न्यूज़
Home » National » शीतकालीन सत्र समाप्त : ‘ट्रिपल तलाक बिल’ राज्यसभा में नहीं हो सका पास –
शीतकालीन सत्र समाप्त : ‘ट्रिपल तलाक बिल’ राज्यसभा में नहीं हो सका पास –

शीतकालीन सत्र समाप्त : ‘ट्रिपल तलाक बिल’ राज्यसभा में नहीं हो सका पास –

नई दिल्ली – संसद का शीतकालीन सत्र आज शुक्रवार को समाप्त हो गया. लेकिन तीन तलाक का बिल पास नहीं हो सका . हालांकि सरकार इसी सत्र में इसे पास कराना चाहती थी, लेकिन कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के विरोध और मांग के कारण राज्यसभा में बिल पास नहीं करा सकी|.राज्यसभा का सत्र भी अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया यह सत्र काफी छोटा रहा. लोकसभा में कुल 13 बैठकें हुईं जो 61 घंटे और 48 मिनट तक चलीं. सत्र के दौरान निचले सदन में 16 सरकारी विधेयक पेश किए गए और 12 विधेयक पारित हुए.
हालाँकि आपको बता दे कि आज सरकार के तीन तलाक बिल को पास करवाने का आखिरी दिन था अब बजट सत्र में इस पर चर्चा की संभावना है। यह बिल लोकसभा में पास हो चुका है। तब कांग्रेस ने भी इस पर भाजपा का समर्थन किया था लेकिन उच्च सदन में अड़ंगा डाल दिया , इस कारण बहुमत के लिए विपक्ष का साथ बेहद जरूरी था, इसका पूरा लाभ कांग्रेस ने उठाया और बिल को प्रवर समिति के पास भेजे जाने की मांग पर अड़ी रही। राज्यसभा का गत वर्ष 15 दिसंबर से शुरू हुआ शीतकालीन सत्र आज अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो गया और इस दौरान उच्च सदन में हंगामे के कारण कामकाज  का नुकसान हुआ तथा सभापति एम वेंकैया नायडू ने इस पर चिंता जताते हुए कहा कि बाधायें लोकतंत्र का हिस्सा नहीं हैं।

उन्होंने कहा ‘‘हम सभी के लिए यह समीक्षा, स्मरण और आत्मावलोकन करने का विषय है कि हमने सदन की कार्यवाही का संचालन कैसे किया।’’ उन्होंने सभी सदस्यों को राजनीतिक प्रक्रिया का हिस्सा बताते हुये कहा ‘‘आप मुझसे इस बात से सहमत होंगे कि भले ही संसद राजनीति का एक महत्वपूर्ण संस्थान है,
लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन की ओर से सदन में इस जानकारी के बाद लोकसभा की बैठक अनिश्चिचकाल के लिए स्थगित कर दी गई. महाजन ने बताया कि 15 दिसंबर, 2017 से शुरू हुए 16वीं लोकसभा का 13वां सत्र व्यवधान और स्थगन के कारण 14 घंटे और 51 मिनट बर्बाद हो गए, जबकि लोकसभा ने महत्वपूर्ण मुद्दों पर 8 घंटे तक चर्चा की.

शीतकालीन सत्र के दौरान महत्वपूर्ण वित्तीय, विधायी और अन्य कार्य निपटाए गए एवं संबंधित विनियोग विधेयक पारित किए गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Share